Wednesday, April 14, 2021

क्या आपको भी हो गया है कंप्यूटर विजन सिंड्रोम? इन लक्षणों से करें इस बीमारी की पहचान


नई दिल्ली: कंप्यूटर विजन सिंड्रोम- नाम सुनकर ऐसा लग रहा होगा कि यह कंप्यूटर पर अधिक देर तक काम करने की वजह से आंख या दृष्टि से जुड़ी समस्या है. लेकिन इसमें आपके शरीर और सेहत से जुड़ी और भी कई दिक्कतें शामिल हैं और समय पर इलाज न कराने पर परेशानी बढ़ भी सकती है. इन दिनों कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus) की वजह से बच्चों का स्कूल, बड़ों का ऑफिस सब कुछ घर से ही चल रहा है और इस वजह से लोगों के स्क्रीन टाइम (Screen Time) में काफी इजाफा हुआ है. साल 2020 के आंकड़ों की मानें तो भारत में औसतन हर व्यक्ति रोजाना कम से कम 7 घंटे स्मार्टफोन, लैपटॉप, कंप्यूटर या टैबलेट जैसे गैजेट्स का इस्तेमाल (Gadgets Use) करता है.

डिजिटल स्क्रीन का अधिक इस्तेमाल करने से CVS का खतरा

कंप्यूटर विजन सिंड्रोम (CVS) को डिजिटल आई स्ट्रेन भी कहा जाता है क्योंकि इसमें आंखों पर बहुत अधिक जोर पड़ता है. इसके अलावा सिर दर्द (Headache), गर्दन में दर्द (Pain in neck) और कंधे में दर्द (Pain in shoulder) जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं. अमेरिकन ऑप्टोमेट्रिक एसोसिएशन (AOA) की मानें तो अगर कोई व्यक्ति रोजाना 2 घंटे या इससे अधिक समय तक लगातार कंप्यूटर या किसी अन्य डिजीटल स्क्रीन का इस्तेमाल करता है तो उसे डिजिटल आई स्ट्रेन या कंप्यूर विजन सिंड्रोम होने का खतरा अधिक होता है.   

ये भी पढ़ें- आंखों को हेल्दी रखना है तो इन छोटी पर काम की बातों का जरूर रखें ध्यान

कंप्यूर विजन सिंड्रोम के लक्षण

– आंखों पर जोर पड़ना, किसी चीज को देखने के लिए बहुत जोर लगाना
– आंखों में खुजली होना
– आंखों में सूखापन महसूस होना (Dry Eyes)
– धुंधला दिखायी देना
– डबल विजन (हर चीज दोहरी दिखना)
– फोकस करने में दिक्कत होना
– निकट दृष्टि दोष या मायोपिया
– सिर में दर्द
– गर्दन में दर्द या अकड़न महसूस होना
– कंधे में दर्द होना
– पीठ में दर्द

ये भी पढ़ें- बस इन घरेलू उपायों को अपनाएं और आंखों की जलन और दर्द से छुटकारा पाएं

इन कारणों से होती है यह समस्या

– डिजिटल स्क्रीन यूज करते वक्त लाइट सही न होना, कम रोशनी में स्क्रीन देखना
– स्क्रीन पर बहुत अधिक रोशनी पड़ने के कारण स्क्रीन का चमकना
– स्क्रीन को आंखों से जितनी दूर होना चाहिए उससे कम दूरी पर रखना
– गैजेट्स या डिजिटल स्क्रीन का उपयोग करते वक्त बैठने का पॉस्चर सही न होना
– स्क्रीन के बहुत नजदीक या बहुत दूर होना
– लगातार बिना ब्रेक लिए स्क्रीन की ओर देखते रहना

(नोट: किसी भी उपाय को करने से पहले हमेशा किसी विशेषज्ञ या चिकित्सक से परामर्श करें. Zee News इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)

सेहत से जुड़े अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें. 





Source link

MORE Articles

రోహిత్ సేన బ్యాటింగ్ లైనప్ వీక్: బ్యాక్ అండ్ బ్యాక్ మ్యాచుల్లో 5 వికెట్లు: స్కానింగ్

చెన్నై: ఇండియన్ ప్రీమియర్ లీగ్ 2021 సీజన్,14వ ఎడిషన్‌లో భాగంగా చెన్నైలోని ఎంఎ చిదంబరం స్టేడియంలో జరిగిన అయిదో మ్యాచ్.. ముంబై ఇండియన్స్ బౌలింగ్ సత్తాను చాటింది. కేప్టెన్ రోహిత్ శర్మ వ్యూహాలకు...

बाल झड़ने से हैं परेशान? अपनाएं ये सीक्रेट फार्मूला, फायदे हैरान कर देंगे

नई दिल्लीः बाल, शरीर का ऐसा हिस्सा है, जो इंसान की सुंदरता के लिए बेहद अहम माने जाते हैं. लेकिन आजकल बाल झड़ने...

Spotify’s Car Thing replaces your air vents with a smart music streaming device

Spotify has announced that its Car Thing experiment will become an official product that will ship to selected Spotify Premium customers.Car Thing, an...

Samsung Announces a Galaxy Unpacked Event on April 28 | Digital Trends

Samsung has announced its next Galaxy Unpacked event, where it will likely show off what’s next in its Galaxy product lines. This event...

Nvidia expects crippling GPU shortages to continue throughout 2021

If you’re waiting for the crippling graphics card shortage to loosen up before buying new hardware, well, you might be waiting for a...

Microsoft’s Surface Laptop 4 packs much faster Intel processors

Microsoft has unveiled the Surface Laptop 4.You’ll get faster 11th-gen Intel Core chips, but a familiar design and older AMD options.It’s available April...

Stay Connected

98,675FansLike
224,586FollowersFollow
56,656SubscribersSubscribe