Tuesday, June 22, 2021

चुंबन के पीछे का ये वैज्ञानिक ऐंगल आपको कर देगा हैरान! एक ‘Kiss’ से इतनी मांसपेशियां होती हैं सक्रिय


नई दिल्ली: चुंबन (Kiss) पीछे एक पूरा विज्ञान होता है. आप ये जान कर दंग रह जाएंगे कि वैज्ञानिक (Scientific Reason Behind Lip Kiss) के अनुसार 10 सेंकड की ‘किस’ में 8 करोड़ बैक्टेरिया (Bacteria) एक दूसरे से शेयर होते हैं. विज्ञान कहता है कि इसके कई फायदे भी हैं और नुकसान भी.

चुंबन पर वैज्ञानिक एंगल 

चुंबन (Kiss Scientific Reason) से इतने बैक्टेरिया के आदान प्रदान के बावजूद हाथ मिलाने से बीमार पड़ने की संभावना ज्यादा है. किसिंग के पीछे का विज्ञान कहता है कि भले ही इस काम में बैक्टेरिया का लेना-देना हो जाए लेकिन ये दोनों के लिए फायदेमंद भी हैं.

बचपन से बुढ़ापे तक

प्यार का जुड़ाव होठों से ही शुरू होती है. बचपन में मां का दूध या बोतल से दूध पीते हुए बच्चा अपने होंठ का जिस तरह इस्तेमाल करता है, वो किसिंग (Kiss Scientific Benifits) से काफी मिलता जुलता है. ये बच्चे के दिमाग में न्यूरल/नसों से जुड़ा रास्ता तैयार करती है, जो किसिंग को लेकर मन में सकारात्मक भाव पैदा करती हैं.

ये भी पढ़ें- इस नई खोज से बदल जाएगा चीन का इतिहास! वैज्ञानिकों को मिला ‘रहस्यमयी खजाना’

किस के दौरान होता है सुखद एहसास 

गौरतलब है कि होंठ शरीर का सबसे एक्सपोज़्ड हिस्सा है जो इंसान के भीतर कामुकता जगाता है. इंसानों के होंठ, बाकी जानवरों से अलग बाहर की ओर निकले हुए हैं. आप शायद ही जानते हों कि होठों में संवेदनशील नसों की भरमार है तभी उसका जरा सा छुआ जाना भी हमारे दिमाग तक सिग्नल पहुंचाता है और हम अच्छा महसूस करते हैं.

दिमाग की नसें हो जाती हैं एक्टिव 

चुंबन (Kiss Scientific Facts) हमारे दिमाग के एक बड़े हिस्से को सक्रिय कर देता है. इससे अचानक ही हमारा दिमाग एक्टिव होकर काम पर लग जाता है. यह सोचने लगता है कि आगे क्या हो सकता है. किस का असर कुछ इस तरह होता है कि हमारे शरीर के हार्मोन्स और न्यूरोट्रांसमिटर्स घिरनी की तरह घूमने लगते हैं. हमारी सोच और इमोशन पर असर पड़ना शुरू हो जाता है.

किस के दौरान होता है ये आदान प्रदान 

जब दो होठ मिलते हैं तो औसत 9 मिलीग्राम पानी, .7 मिलीग्राम प्रोटीन, .18 मिलीग्राम ऑर्गैनिक कम्पाउंड्स, .71 मिलीग्राम अलग अलग तरह के फैट्स और .45 मिलीग्राम सोडियम क्लोराइड का आदान प्रदान होता है. किसिंग कैलरी को बर्न करने का काम भी करती है. किस करने वाला जोड़ा 2 से 26 कैलरीज़ प्रति मिनट खर्च करता है और इस इस सुख को महसूस करने के दौरान करीब 30 अलग तरह की मांसपेशियों का इस्तेमाल होता है.

ये भी पढ़ें- ISRO बनेगा ‘हनुमान’! ले जाएगा सबसे अडवांस Geosynchronous Satellite; कभी NASA ने किया था बैन

क्या कहती है संस्कृति 

अलग अलग संस्कृति में चुंबन की महत्ता अलग-अलग है. कई बार किसिंग को थूक का आदान प्रदान भी कहा जाता है. लेकिन आपका ये जानना जरूरी है कि चुंबन की शुरूआत कब हुई. अधययन के अनुसार पश्चिम में यह काम 2000 साल पहले शुरू हो चुका था. वहीं 2015 की एक स्टडी के अनुसार 168 संस्कृतियों में से आधी से भी कम है जो होंठ मिलन यानी किस को स्वीकार करती हैं. कई संस्कृतियों में इसे ‘पाप’ मानते हैं.

किस के फायदे (Scientific Benifits Of Kiss) 

रिश्ता बने मजबूत- किस(चुंबन) करने को सुखदायी एक्टिविटी माना जाता है. ये शारीरिक संबंधों के लिए भी आवश्यक है. प्यार और साथ को बनाए रखने में मददगार है.
तनाव कम – किस करने से दिमाग से ऐसे केमिकल निकलते हैं, जो दिमाग को शांत करते हैं. इससे तनाव कम होता है और दिमाग भी फ्रेश हो जाता है.
मेटाबॉलिज्म- किस करने से कैलोरी बर्न होती है, जिससे मेटाबॉलिज्म को बढ़ावा मिलता है.
मुंह रहे सेहतमंद- हमारे मुंह की लार में बैक्टीरिया, वायरस आदि से लड़ने वाले पदार्थ होते हैं. इसलिए किस करने से हमारा मुंह, दांत और मसूड़े सेहतमंद बने रहते हैं.
बढ़ती है इम्युनिटी- अपने साथी के मुंह में रहने वाले कीटाणुओं के संपर्क में आने से हमारी इम्युनिटी भी मजबूत होती है.

ये भी पढ़ें- मंगल पर ‘मकड़ियों’ के रहस्य ने अब तक वैज्ञानिकों को उलझाया, नई स्टडी से Mars Mission में ट्विस्ट

किस करने के ये हैं नुकसान

किस करने का सबसे बड़ा नुकसान है कि इससे कुछ बीमारियां आसानी से फैल सकती हैं
गले और नाक से निकले ड्रॉपलेट से
कुछ इन्फेक्टेड ड्रॉपलेट हवा में भी होते हैं. जब संक्रमित ड्रॉपलेट को आप सांस के माध्यम से अंदर ले जाते हैं तो आप बीमार हो सकते हैं
नाक और गले से कुछ संक्रमित कण अपने छोटे आकार के कारण लंबे समय तक हवा में रह सकते हैं. उन्हें ड्रॉपलेट नुक्लेइ कहा जाता है जो सीधे फेफड़ों में प्रवेश कर बीमारी का कारण बन सकते हैं.
कई तरह के इंफेक्शन

विज्ञान से जुड़े अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

LIVE TV





Source link

MORE Articles

Clubhouse is building a DM text chat feature – TechCrunch

Some Clubhouse users were treated to a surprise feature in their favorite app, but it wasn’t long for this world. A new UI...

HPE says it has acquired Determined AI, which is developing an open source platform for building machine learning models; terms of the deal were...

Kyle Wiggers / VentureBeat: HPE says it has acquired Determined AI, which is developing an open source platform for building machine learning models;...

టీఆర్ఎస్‌లోకి రేవంత్ రెడ్డి ముఖ్య అనుచరుడు… హుజురాబాద్ ఉపఎన్నికవేళ మారుతున్న రాజకీయం…

హుజురాబాద్‌లో గెలుపు టీఆర్ఎస్‌దే -హరీశ్ రావు మంత్రి హరీశ్ రావు మాట్లాడుతూ... హుజురాబాద్‌ నియోజకవర్గ ప్రజలు సీఎం కేసీఆర్‌ వెంటే ఉన్నారని అన్నారు. 2001 నుంచి హుజురాబాద్‌...

हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखेंगी ये चीजें, हार्ट अटैक का खतरा भी होगा कम, डॉक्टर ने बताया सेवन करने का सही तरीका

नई दिल्ली: हार्ट अटैक एक ऐसी स्थिति है, जिसमें जान बचाना बेहद मुश्किल हो जाता है. इसकी सबसे बड़ी वजह अनियंत्रित हाई ब्लड...

Stay Connected

98,675FansLike
224,586FollowersFollow
56,656SubscribersSubscribe