Sunday, August 1, 2021

रक्तदान करने से पहले ये बातें जान लें, इन 5 लोगों को ब्लड डोनेट नहीं करना चाहिए


नई दिल्ली: रक्तदान को महादान यूं ही नहीं कहा जाता. एक व्यक्ति के रक्तदान करने से 5 लोगों का भला हो सकता है, मरीजों को नया जीवन मिल सकता है और रक्तदान (Blood Donation) की इस पूरी प्रक्रिया में सिर्फ 20 मिनट का समय लगता है. बावजूद इसके भारत में 30 में से सिर्फ 1 व्यक्ति ही नियमित रूप से ब्लड डोनेट करता है. आपको जानकर हैरानी होगी कि हमारे देश में रोजाना 40 हजार ब्लड डोनेशन की जरूरत होती है ताकि कैंसर, सिकल सेल एनीमिया से लेकर एमरजेंसी सर्जरी, ऐक्सिडेंट आदि से जुड़े मामलों को हैंडल किया जा सके. रेड क्रॉस (Red Cross) जैसे संगठन लोगों को ब्लड डोनेशन के लिए जागरूक करते रहते हैं. हालांकि रक्तदान करने से पहले कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए और किन लोगों को ब्लड डोनेट नहीं करना चाहिए इस बारे में भी जानना जरूरी है.

1. जिन लोगों ने टैटू बनवाया हो या पियरसिंग करवायी हो
अगर आपने स्किन से जुड़ा कोई भी ट्रीटमेंट करवाया हो, टैटू (Tattoo) बनवाया हो या फिर Piercing यानी स्किन में छेद करवाया हो (नाक, कान, नेवल कहीं भी) तो उस व्यक्ति को कम से कम 4 महीने तक रक्तदान नहीं करना चाहिए. इसका सबसे अहम कारण ये है कि हेपेटाइटिस वायरस को ट्रांसफर से होने से रोका जा सके. 

ये भी पढ़ें- टैटू बनवाने वाले हो जाएं सावधान, हो सकता है हार्ट अटैक का खतरा

2. जिन लोगों को सर्दी-जुकाम या फ्लू हो  
अगर किसी व्यक्ति को सर्दी-जुकाम या फ्लू (Cold and Flu) हो तो उन्हें भी पूरी तरह से स्वस्थ होने तक ब्लड डोनेट नहीं करना चाहिए. रेड क्रॉस सोसायटी भी इस पॉलिसी का पालन करती है ताकि ब्लड डोनेट करने वाले व्यक्ति से खून चढ़ाने वाले व्यक्ति में फ्लू के वायरस को फैलने से रोका जा सके.

3. किसी बीमारी के इलाज के लिए एंटीबायोटिक्स का सेवन किया हो
जिन लोगों को बीते 2 हफ्ते में किसी भी तरह का इंफेक्शन (Infection) हुआ हो और उसके इलाज के लिए एंटीबायोटिक्स (Antibiotics) का इस्तेमाल हुआ हो उन लोगों को 10-15 दिन के बाद ही ब्लड डोनेट करना चाहिए. ऐसा इसलिए क्योंकि ऐसे कई इंफेक्शन होते हैं जो खून में भी ट्रांसफर हो सकते हैं. रक्तदान करने वाले डोनर को अगर बैक्टीरियल इंफेक्शन हो जिसके इलाज के लिए वे एंटीबायोटिक्स का सेवन कर रहे हों उन्हें भी ब्लड डोनेट नहीं करना चाहिए.

ये भी पढ़ें- एंटीबायोटिक्स कैसे काम करते हैं और इनका शरीर पर क्या प्रभाव पड़ता है

4. अगर आप अंडरवेट हैं या आपका वजन सामान्य से कम है
रक्तदान करने वाले व्यक्ति का वजन कम से कम 50 किलो अवश्य होना चाहिए और उसकी सेहत भी पूरी तरह से ठीक होनी चाहिए. 18 साल से कम उम्र के ब्लड डोनर्स के लिए भी हाइट और वेट की स्पेसिफिक जरूरतें होती हैं और उन्हें पूरा करने वाले लोग ही ब्लड डोनेट कर सकते हैं.

5. इन लोगों को ब्लड डोनेट नहीं करना चाहिए
– जिन्हें बीते एक साल में जॉन्डिस या हेपेटाइटिस की बीमारी हुई हो
– वैसे लोग जिन्हें किसी भी तरह का कैंसर हुआ हो या कैंसर का इलाज चल रहा हो
– मुंहासों के इलाज के लिए किसी तरह की दवा खा रहे हों 
– किसी खास तरह की बीमारी के लिए टीकाकरण हुआ हो

सेहत से जुड़े अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.





Source link

MORE Articles

వావ్.. ఓకేసారి 1000 మంది వీడియో కాల్.. టెలీగ్రామ్ నయా ఫీచర్

ప్రైవసీ పాలసీ వల్ల.. ఇటీవల కొత్త ప్రైవసీ పాలసీ కారణంగా యూజర్లు వాట్సాప్‌కు దూరం అవుతున్నారు. ప్రత్యామ్నయంగా టెలిగ్రామ్‌ యాప్‌ యూజ్ చేయడానికి ఇంట్రెస్ట్ చూపిస్తున్నాన్నారు. దీంతో...

Wife: రాత్రి హ్యాపీగా ఎంజాయ్, పగలు పంచాయితీలు, భార్యను నరికి చంపిన భర్త, కొడవలి ఎత్తుకుని !

పెళ్లి వయసు వచ్చిన పిల్లలు ఢిల్లీలోని మంగోలిపురలో సమీర్ (45), సబానా (40) దంపతులు నివాసం ఉంటున్నారు. సమీర్, సబానా దంపతులకు 21 సంవత్సరాలు, 17 సంవత్సరాల...

The Jodie Whittaker era of Doctor Who has been far from vintage, but the show’s decline started years ago

After months of rumors, it was no surprise when the BBC finally confirmed on July 29 that Doctor Who star Jodie Whittaker and...

How to Silence Notifications With Windows 10’s Focus Assist

You're in the middle of browsing a website, creating a document, or playing a game. Then Windows 10 taps...

सेहत के लिए रोज एक उबला अंडा है बेहद फायदेमंद, मिलते हैं जबरदस्त लाभ, बस जान लीजिए सेवन का सही टाइम

benefits of boiled egg eating in breakfast: दिन की शुरूआत हमें हेल्दी नाश्ते के साथ करनी चाहिए, जिससे दिनभर के लिए शरीर को...

‘అశ్వగంధ’ కోవిడ్‌ను నయం చేయగలదా-యూకెతో భారత్‌ క్లినికల్ ట్రయల్స్-సక్సెస్ అయితే మరో ముందడుగు పడినట్లే

అశ్వగంధ రోగనిరోధకతను పెంచగలదా? అశ్వగంధ మొక్కను సాధారణంగా ఇండియన్ వింటర్ చెర్రీ అని పిలుస్తారు.సంప్రదాయ మూలిక వైద్యంలో,ఆయుర్వేదంలో ఇది దివ్యమైన ఔషధంగా చెబుతారు. ఒత్తిడిని తగ్గించి శరీరంలో...

Stay Connected

98,675FansLike
224,586FollowersFollow
56,656SubscribersSubscribe