Thursday, May 6, 2021

Blue Dunes on Mars: नासा ने शेयर की मंगल ग्रह के नीले टीलों की बेहद खूबसूरत तस्वीर, आप भी देखिए


नई दिल्ली: अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा (NASA) ने मंगल (Mars) की एक बेहद खूबसूरत फोटो जारी की है, जिसे देखकर सभी लोग हैरान हैं और मंगल ग्रह के बारे में जानने के लिए पहले से ज्यादा बेताब हो गए हैं. दरअसल ये फोटो मंगल के ब्लू डून्स (Blue Dunes) यानी नीले दिखने वाले टीलों की है.

ब्लू डून्स की फोटो 

बता दें कि नासा (NASA) ने मंगल (Mars) ग्रह के ब्लू डून्स (Blue Dunes) की फोटो ओडिसी ऑर्बिटर से खींचकर जारी की हैं. ओडिसी को स्पेस में 20 साल हुए पूरे हो गए हैं. ओडिसी साल 2001 में लॉन्च हुआ था. जान लें कि ओडिसी मंगल ग्रह पर सबसे ज्यादा वक्त तक रहने वाला स्पेसक्राफ्ट बन गया है. गौरतलब है कि वैज्ञानिक मंगल को लेकर आजकल बहुत उत्सुकता है. इसी वजह से हर देश जल्द से जल्द मंगल तक पहुंचना चाहता है.

ये भी पढ़ें- ये है घने जंगलों में गोरिल्ला की बातचीत का कोड, जानिए सीना पीटने के पीछे की असली वजह

मंगल पर 30 किलोमीटर तक ब्लू डून्स

नासा (NASA) ने फोटो जारी करते हुए कैप्शन में लिखा ‘Blue Dunes On The Red Planet’. मंगल ग्रह से आई इस फोटो को सोशल मीडिया पर खूब पसंद किया जा रहा है. नासा (NASA) की तरफ से जानकारी दी गई कि इस फोटो को मंगल ग्रह के नॉर्थ पोल से लिया गया है. ये ब्लू डून्स मंगल पर चलने वाली तेज हवाओं से बने हैं. मंगल पर करीब 30 किलोमीटर तक ब्लू डून्स फैले हुए हैं.

इंफ्रारेड कैमरे से ली गई तस्वीर 

जान लें कि इस खास फोटो को नासा के मार्स ओडिसी ऑर्बिटर (Mars Odyssey Orbiter) के इंफ्रारेड कैमरे (Infrared Camera) से खींचा गया है. ओडिसी ऑर्बिटर में लगे इस कैमरे को थर्मल इमिशन इमेजिंग सिस्टम (Thermal Emission Imaging System) कहा जाता है. 
नासा (NASA) के मुताबिक, फोटो में मंगल की सतह पर अलग-अलग रंग उसके तापमान को दिखा रहे हैं. पीले और नारंगी रंग का मतलब ज्यादा तापमान और नीला होने का मतलब है ठंडा.

ये भी पढ़ें- इस राज्य में तेजी से फैल रहा भुतहा जंगल, 21 हजार एकड़ जमीन पर कब्जा; वैज्ञानिक हैरान

ओडिसी का थर्मल इमिशन इमेजिंग सिस्टम

नासा ने ये भी बताया कि ओडिसी का थर्मल इमिशन इमेजिंग सिस्टम (Thermal Emission Imaging System) दिन और रात दोनों वक्त मंगल ग्रह के तापमान को मापता है. इससे वैज्ञानिकों को पता चलता है कि मंगल पर उस जगह रेत, चट्टान या धूल है या नहीं. ये डेटा सतह के गर्म या ठंड होने से पता चलता है.

2002 और 2004 में ली गई थी तस्वीर

बता दें कि इन दोनों फोटो को मार्स ओडिसी ऑर्बिटर (Mars Odyssey Orbiter) ने नवंबर, 2002 और नवंबर, 2004 में लिया था. जिसे नासा (NASA) ने ओडिसी के 20 साल पूरे होने पर जारी किया. 7 अप्रैल, 2001 को ओडिसी लॉन्च किया गया था.

विज्ञान से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

LIVE TV





Source link

MORE Articles

Algorithmic Architecture: Using A.I. to Design Buildings | Digital Trends

Designs iterate over time. Architecture designed and built in 1921 won’t look the same as a building from 1971 or from 2021. Trends...

HEALTH NEWS: कद्दू के बीजों का पुरुष ऐसे करें सेवन, फिर देखें कमाल!

नई दिल्ली: अगर आप कद्दू खाते होंगे तो उसके बीजों का क्या करते हैं? कहीं फेंक तो नहीं देते? यदि फेंक देते हैं,...

త్వరపడండి..హోండా యాక్టివాపై అదిరిపోయే డిస్కౌంట్: పరిమిత కాలం మాత్రమే

ఇది మాత్రమే కాకుండా హోండా యాక్టివా 6 జి యొక్క 20 వ యానివర్సరీ ఎడిషన్ కూడా అందుబాటులో ఉంది. దీనిని మార్కెట్లో ప్రస్తుతం 69,343 రూపాయలకు...

30 జిల్లాల్లో ఏడు మనవే.. నవరత్నాలు ఎందుకు, మారెడ్డి అంటూ రఘురామ చిందులు

చీమ కుట్టినట్లయినా లేదు.. కరోనా విషయంలో ఆంధ్రప్రదేశ్ ప్రభుత్వానికి చీమ కుట్టినట్టయినా లేదని చెప్పారు. వైరస్ విషయంలో ప్రభుత్వం తీరు దున్నపోతు మీద వాన పడ్డట్టు...

Stay Connected

98,675FansLike
224,586FollowersFollow
56,656SubscribersSubscribe