Thursday, May 6, 2021

Gorilla Chest Beating: ये है घने जंगलों में गोरिल्ला की बातचीत का कोड, जानिए सीना पीटने के पीछे की असली वजह


नई दिल्ली: जानवरों की भी अपनी भाषा होती है. वे भी आपस में बातें करते हैं. ऐसा ही होता है गोरिल्ला (Gorillas) के साथ. गोरिल्ला अपना सीना पीटते हैं, यह सभी ने देखा है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि असल में वो सांकेतिक भाषा में ये बताता है कि वो कितना शक्तिशाली है.

फीमेल गोरिल्ला को आकर्षित

हाल ही में हुए एक अध्ययन में वैज्ञानिकों ने बताया कि जितना बड़ा नर गोरिल्ला होता है, वह उतनी तेजी और शक्ति से अपना सीना पीटता है. इससे वह दूसरों को बताता है कि वह कितना शक्तिशाली है. इतना ही नहीं इस तरह से वो फीमेल गोरिल्ला को आकर्षित भी करता है. घने जंगल में जानवरों के बीच कम्युनिकेशन का यह एक अहम जरिया है.

ये भी पढ़ें – चीन के Wuhan लैब में कोरोना से भी अधिक खतरनाक वायरस मौजूद, चावल-कपास से खुला राज

फीमेल गोरिल्ला को करते हैं आकर्षित 

आपने देखा होगा कि नर गोरिल्ला इतना तेज सीना पीटते हैं कि इसकी आवाज एक किलोमीटर दूर तक सुनी जा सकती है. जर्मनी के लाइपजिग में मैक्स प्लैंक इंस्टिट्यूट फॉर एवलूशनरी ऐंथ्रोपोलॉजी (Max Planck Institute for Evolutionary Anthropology in Leipzig, Germany) के एडवर्ड राइट (Edward Wright) ने कहा कि इस तरह से सीना पीट कर ये गोरिल्ला अपना शक्ति प्रदर्शन करते हैं और अन्य गोरिल्ला को ये बताते हैं कि वे ही सबसे सक्षम हैं. और वो मादाओं को आकर्षित करने की कोशिश करते हैं. 

एक नर गोरिल्ला के साथ कई मादाएं गोरिल्ला

गौरतलब है कि एक गोरिल्ला की सोसायटी में एक समूह में एक नर गोरिल्ला के साथ कई मादाएं गोरिल्ला होती हैं. प्रजनन के लिए मादाएं एक समूह से दूसरे में जाती हैं और उन्हें आकर्षित करने के लिए अन्य गोरिल्ला आपस में एक-दूसरे से प्रतियोगिता करते हैं. इनके बीच ऐसी मान्यता है कि जिसका शरीर ज्यादा बलवान होता है वो ज्यादा क्षमता वाले होते हैं. इसलिए ये गोरिल्ला बचपन से ही सीना पीटने लगते हैं.

ये भी पढ़ें – वैज्ञानिकों ने कर दिखाया चमत्कार! अब खून के लिए नहीं करनी होगी मशक्कत, जानिए कैसे

वॉइस बॉक्स में Air Sacks 

साइंटिफिक रिपोर्ट्स में छपी रिसर्च के अनुसार, बड़े गोरिल्ला भारी आवाजें निकालते हैं और इनकी फ्रीक्वेंसी कम होती है. ये आवाज उनके वॉइस बॉक्स में Air Sacks के आकार पर निर्भर करती है. अलग- अलग गोरिल्ला अलग-अलग समय के लिए अलग आवाज निकालते हैं. यानी इसके आधार पर उनकी पहचान भी की जा सकती है.

विज्ञान से जुड़ी अन्य ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

LIVE TV





Source link

MORE Articles

HEALTH NEWS: कद्दू के बीजों का पुरुष ऐसे करें सेवन, फिर देखें कमाल!

नई दिल्ली: अगर आप कद्दू खाते होंगे तो उसके बीजों का क्या करते हैं? कहीं फेंक तो नहीं देते? यदि फेंक देते हैं,...

త్వరపడండి..హోండా యాక్టివాపై అదిరిపోయే డిస్కౌంట్: పరిమిత కాలం మాత్రమే

ఇది మాత్రమే కాకుండా హోండా యాక్టివా 6 జి యొక్క 20 వ యానివర్సరీ ఎడిషన్ కూడా అందుబాటులో ఉంది. దీనిని మార్కెట్లో ప్రస్తుతం 69,343 రూపాయలకు...

30 జిల్లాల్లో ఏడు మనవే.. నవరత్నాలు ఎందుకు, మారెడ్డి అంటూ రఘురామ చిందులు

చీమ కుట్టినట్లయినా లేదు.. కరోనా విషయంలో ఆంధ్రప్రదేశ్ ప్రభుత్వానికి చీమ కుట్టినట్టయినా లేదని చెప్పారు. వైరస్ విషయంలో ప్రభుత్వం తీరు దున్నపోతు మీద వాన పడ్డట్టు...

Scam: స్టార్ హోటల్ లో రూ. 360 కోట్ల డీల్, నాడార్ స్కెచ్, లేడీ కాదు మగాడి మెడలోనే, ఢమాల్!

హరినాడార్ అంటేనే బంగారంకు బ్రాండ్..... క్రేజ్ తమిళనాడులోని తిరునల్వేలికి చెందిన హరి నాడార్ అలియాస్ హరి గోపాలక్రిష్ణ నాడార్ అంటే బంగారు నగలకు బ్రాండ్ అంబాసిడర్...

Stay Connected

98,675FansLike
224,586FollowersFollow
56,656SubscribersSubscribe