Tuesday, April 13, 2021

HOPE Mars Mission: मंगल ग्रह पर लगने वाला है भीषण जाम, इन देशों में मची लैंड करने की होड़


नई दिल्ली: Life On Mars: अंतरिक्ष (Space) में मौजूद सभी ग्रहों में मंगल (Mars) एक ऐसा ग्रह है, जहां पहुंचने के लिए सभी देश बेताब हैं. हर दूसरा देश ‘मिशन मंगल’ (Mission Mars) लॉन्च कर वहां पहुंचने की जल्दबाजी में नजर आ रहा है. इस महीने तो हद ही हो गई है. दरअसल, कई देशों के यान लंबी दूरी की यात्रा कर एक साथ वहां पहुंचने वाले हैं. ऐसे में लग रहा है कि पृथ्वी (Earth) की ही तरह अब मंगल पर भी जाम की स्थिति बन जाएगी.

इन देशों के यान रखेंगे मंगल पर नजर

मंगल ग्रह (Mars) पर अब तक सिर्फ अमेरिका (America) का यान ही पहुंच सका था. इस देश ने 8 बार इस कारनामे को अंजाम दिया है. नासा (NASA) के दो लैंडर, इनसाइट (Insight) और क्यूरियोसिटी (Curiosity), वहीं संचालित हो रहे हैं. इन दोनों के अलावा 6 अन्य यान मंगल की कक्षा से वहां की तस्वीरें हम तक पहंचा रहे हैं, जिनमें अमेरिका से 3, यूरोपीय देशों से 2 और भारत से 1 यान शामिल हैं.

अब यूएई (UAE) ने भी अपना यान वहां सफलतापूर्व लैंड करवा दिया है. माना जा रहा है कि पृथ्वी के शक्तिशाली देश अब मंगल ग्रह पर भी अपना दबदबा दिखाने के लिए आतुर हैं. फरवरी में यूएई का यान मंगल पर पहुंच चुका है, आज चीन (China) का पहुंचेगा और 18 को नासा (NASA) का.

यह भी पढ़ें- NASA की Chandra X-ray Observatory ने खोजा नया पिंड, जानिए क्यों और कितना खास है Pulsar

यूएई के होप मिशन से मिली नई उम्मीद

संयुक्‍त अरब अमीरात (UAE), चीन (China) और अमेरिका (America) के अंतरिक्ष यान लंबी यात्रा के बाद मात्र 11 दिनों के अंदर मंगल ग्रह की कक्षा में पहुंचने वाले हैं. यूएई का होप (HOPE) अंतरिक्ष यान (HOPE Mars Mission) करीब 7 महीने पहले लाल ग्रह (Red Planet) मंगल के लिए रवाना हुआ था और आज मंगल की कक्षा में प्रवेश भी कर चुका है.

यूएई का होप यान करीब 120,000 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चक्‍कर लगा रहा है. मंगल के गुरुत्वाकर्षण बल (Gravitational Force) के पकड़ में आने के लिए यूएई के वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष यान के इंजन को करीब 27 मिनट तक चालू रखा. यह अपने पहले ही प्रयास में मंगल की कक्षा में प्रवेश करने में सफल रहा है.

यह भी पढ़ें- Life On Mars: वैज्ञानिक का खुलासा, 2026 में बस जाएगी Mars और Jupiter के बीच इंसानी बस्ती!

61 सालों में मंगल पर 58 मिशन

मंगल ग्रह पर 61 सालों में 58 मिशन (Mars Mission) भेजे जा चुके हैं. अब तक सबसे ज्यादा मिशन अमेरिका ने (29), फिर सोवियत संघ/रूस ने (22) और यूरोपीय संघ ने (4) भेजे हैं. वहीं, भारत, चीन (China) और यूएई (UAE) ने मंगल पर 1-1 मिशन भेजा है.

विज्ञान से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें





Source link

MORE Articles

HomeX, which pairs service workers with homeowners and uses AI to diagnose home-related issues, raises $90M, says number of contractors on HomeX rose 5x...

Mary Ann Azevedo / TechCrunch: HomeX, which pairs service workers with homeowners and uses AI to diagnose home-related issues, raises $90M, says number...

Coronavirus छूने से नहीं फैलता, US की नई रिसर्च में दावा

वाशिंगटन: साल 2021 में जब कोरोना वायरस (Coronavirus) बहुत तेजी से फैल रहा था, तब हालत ये थी कि कुछ भी छूने से...

భారత్‌లో విలయం: Sputnik V రాకతో భరోసా? -రష్యన్ వ్యాక్సిన్ ధర, సమర్థత ఎంత? -కీలక అంశాలివే

భారత్‌లో మూడో వ్యాక్సిన్.. మన దేశంలో కొవిడ్ కేసులకు సంబంధించి అత్యవసర వినియోగానికి రెండు వ్యాక్సిన్లను వాడుతున్నారు. ప్రస్తుతం 45 ఏళ్లు దాటిన అందరికీ టీకాలను...

ఏపీలో కరోనా కల్లోలం : గత 24 గంటల్లో 4,228 కొత్త కేసులు ,10 మరణాలు, జిల్లాల వారీగా కేసులివే !!

గత 24 గంటల్లో కరోనాతో 10 మంది మృతి , మొత్తం కేసుల సంఖ్య 9,32,892 ఆంధ్రప్రదేశ్ రాష్ట్రంలో ఈరోజు నమోదైన మొత్తం కేసులతో కలిపి...

Taiwan’s AppWorks leads $1m round in Vietnam healthtech startup

Docosan says it has helped 50,000 patients book appointments with doctors across 35 specialties within less than a year of operations. Source link

Stay Connected

98,675FansLike
224,586FollowersFollow
56,656SubscribersSubscribe