Tuesday, April 13, 2021

Rice Benefits: ब्राउन राइस या वाइट राइस, सेहत के लिहाज से क्या है ज्यादा फायदेमंद


नई दिल्ली: चावल, दुनियाभर के लोगों की डाइट का सबसे अहम हिस्सा है. खासकर एशिया के ज्यादातर देशों में तो चावल (Rice is Staple Diet) का बहुत अधिक इस्तेमाल किया जाता है. भारत में भी अधिकतर लोग चावल खाना पसंद करते हैं. राजमा चावल और कढ़ी चावल हो या फिर सांभर चावल और रसम चावल- उत्तर से लेकर दक्षिण भारत तक चावल सभी लोगों का फेवरिट है. लेकिन इन दिनों हेल्थ कॉन्शस लोगों के बीच ब्राउन राइस (Brown Rice) भी काफी पॉपुलर हो गया है. तो सेहत के लिहाज से वाइट राइस या ब्राउन राइस क्या है ज्यादा बेहतर, यहां जानें.

ब्राउन राइस Vs वाइट राइस: पोषक तत्व

अमेरिका के डिपार्टमेंट ऑफ एग्रीकल्चर की मानें तो 1 कप (185 ग्राम) वाइट राइस में 242 कैलोरीज, 4.43 ग्राम प्रोटीन, 0.39 ग्राम फैट, 53.2 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 0.56 ग्राम फाइबर पाया जाता है. तो वहीं 1 कप (200 ग्राम) ब्राउन राइस में 248 कैलोरीज, 5.54 ग्राम प्रोटीन, 1.96 ग्राम फैट, 51.7 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 3.23 ग्राम फाइबर होता है. इसके अलावा वाइट और ब्राउन दोनों ही तरह के चावल में फोलेट और आयरन भी पाया जाता है.

ये भी पढ़ें- बासी चावल खाने के ये फायदे कर देंगे हैरान, फेंकने से पहले एक बार पढ़ लें

चूंकि ब्राउन राइस में अनाज के सभी हिस्से चोकर और अंकुर (bran and germ) मौजूद होते हैं इसलिए यह ज्यादा न्यूट्रिशियस यानी पोषक तत्वों से भरपूर होता है. लेकिन सफेद चावल (White Rice) में ये दोनों चीजें नहीं होतीं, और जरूरी पोषक तत्व भी कम ही मात्रा में होते हैं इसलिए ब्राउन राइस को वाइट राइस से ज्यादा हेल्दी माना जाता है. 

ये भी पढ़ें- क्या आपके बढ़ते वजन के लिए चावल है जिम्मेदार, इस दावे की हकीकत जानें

किडनी डिजीज वाले लोग न खाएं ब्राउन राइस- ब्राउन राइस में फॉस्फोरस और पोटैशियम (Potassium) की मात्रा अधिक होती है. जिन लोगों को किडनी की बीमारी (Kidney disease) हो उन्हें सफेद चावल ही खाना चाहिए क्योंकि जब किडनी पूरी तरह से स्वस्थ नहीं होती तो वह इन दोनों न्यूट्रिएंट्स को रेग्युलेट नहीं कर पाती और शरीर में पोटैशियम की मात्रा अधिक हो जाए तो हार्ट अटैक का खतरा (Heart Attack) रहता है.

इन बीमारियों में भी न खाएं ब्राउन राइस- जिन लोगों को डायरिया, आईबीडी, कोलोरेक्टल कैंसर की बीमारी हो या फिर जिनका पाचन तंत्र का ऑपरेशन हुआ हो, ऐसे लोगों को भी ब्राउन राइस नहीं खाना चाहिए क्योंकि इसमें फाइबर की मात्रा (Excess Fiber) अधिक होती है. सफेद चावल में फाइबर कम होता है इसलिए इसे पचाना आसान होता है.

(नोट: किसी भी उपाय को करने से पहले हमेशा किसी विशेषज्ञ या चिकित्सक से परामर्श करें. Zee News इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)

सेहत से जुड़े अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें. 





Source link

MORE Articles

Startup Alley at TechCrunch Disrupt 2021 is filling up fast. Apply today. – TechCrunch

Startup Alley — the very name conjures up images of early-stage startups demonstrating game-changing products, platforms and services to thousands of Disrupt attendees...

खुद से है प्यार, सोने से पहले एक गिलास दूध में मिलाकर पिएं 1 चम्मच सौंफ, फायदे हैरत में डाल देंगे!

नई दिल्ली: भारत के लगभग हर घर में सौंफ का इस्तेमाल होता है. इसके मीठे स्वाद और महक के कारण ज्यादातर लोग माउथ...

HomeX, which pairs service workers with homeowners and uses AI to diagnose home-related issues, raises $90M, says number of contractors on HomeX rose 5x...

Mary Ann Azevedo / TechCrunch: HomeX, which pairs service workers with homeowners and uses AI to diagnose home-related issues, raises $90M, says number...

Coronavirus छूने से नहीं फैलता, US की नई रिसर्च में दावा

वाशिंगटन: साल 2021 में जब कोरोना वायरस (Coronavirus) बहुत तेजी से फैल रहा था, तब हालत ये थी कि कुछ भी छूने से...

Stay Connected

98,675FansLike
224,586FollowersFollow
56,656SubscribersSubscribe