Thursday, May 6, 2021

Roof Of The World: तिब्बत के पठार पर Global Warming का खतरा, तापमान बढ़ने पर तेजी से पिघल रहे ग्लेशियर


बीजिंग: हाल ही में उत्तराखंड (Uttarakhand) में ग्लेशियर (Glacier) फटने से लगभग 80 लोगों की जान चली गई थी. हिमालय (Himalaya) पर मंडराते ग्लोबल वॉर्मिंग (Global Warming) के खतरे को इस घटना ने साफ कर दिया है. एक स्टडी में दावा किया गया कि तिब्बत के पठार (Tibet Plateau) पर तापमान पहले से ज्यादा तेजी से बढ़ेगा.

गौरतलब है कि यह समस्या केवल तिब्बत या भारत (India) के लिए ही नहीं बल्कि पूरे एशिया (Asia) महाद्वीप के लिए खतरा है. बता दें कि इस इलाके को एशिया का वॉटर टावर (Water Tower Of Asia) कहा जाता है. इस इलाके में कई नदियों के स्रोत हैं.

ये भी पढ़ें- नासा ने शेयर की मंगल ग्रह के नीले टीलों की बेहद खूबसूरत तस्वीर, आप भी देखिए

तेजी से बढ़ेगा तापमान

बता दें कि क्लामेट (Climate) से जुड़े कई मॉडल्स (Models) में तापमान (Temperature) बढ़ने के खतरनाक परिणामों की वार्निंग दी गई है. चीन (China) के रिसर्चर्स ने एक स्टडी (Chinese Study) में बताया कि यहां का तापमान पहले के आकलन से ज्यादा बढ़ सकता है.

रिसर्चर वेंग्शिया झांग ने कहा कि अगर मॉडरेट कार्बन इमिशन (Moderate Carbon Emission) की स्थिति ऐसी ही रही तो साल 2041-2060 के बीच तिब्बत के पठारी क्षेत्र का तापमान 2.25 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ सकता है. ये तापमान साल 2081-2100 के बीच 2.99 डिग्री सेल्सियस तक भी बढ़ सकता है.

ये भी पढ़ें- घने जंगलों में ये है गोरिल्ला की बातचीत का कोड, क्या आपने देखा या सुना है कभी?

इन नदियों पर है संकट

जान लें कि तिब्बत के पठारी इलाके में तापमान बढ़ने से ग्लेशियर पिघलेंगे और अरबों लोगों, पेड़-पौधों और मवेशियों के सामने पानी की समस्या खड़ी हो सकती है. भारत में ब्रह्मपुत्र और गंगा, पाकिस्तान में सिंधु, चीन में यांगजे और यलो नदी के लिए समस्या हो जाएगी.

आ सकती हैं प्राकृतिक आपदाएं

इसकी वजह से नदियों में पानी के बहाव पर फर्क पड़ेगा, जिससे सूखा और बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदाएं आ सकती हैं. इसके कारण समुद्र का जलस्तर भी बढ़ेगा. जिससे खेती और बिजली के प्रोडक्शन पर असर पड़ सकता है.

LIVE TV





Source link

MORE Articles

Algorithmic Architecture: Using A.I. to Design Buildings | Digital Trends

Designs iterate over time. Architecture designed and built in 1921 won’t look the same as a building from 1971 or from 2021. Trends...

HEALTH NEWS: कद्दू के बीजों का पुरुष ऐसे करें सेवन, फिर देखें कमाल!

नई दिल्ली: अगर आप कद्दू खाते होंगे तो उसके बीजों का क्या करते हैं? कहीं फेंक तो नहीं देते? यदि फेंक देते हैं,...

త్వరపడండి..హోండా యాక్టివాపై అదిరిపోయే డిస్కౌంట్: పరిమిత కాలం మాత్రమే

ఇది మాత్రమే కాకుండా హోండా యాక్టివా 6 జి యొక్క 20 వ యానివర్సరీ ఎడిషన్ కూడా అందుబాటులో ఉంది. దీనిని మార్కెట్లో ప్రస్తుతం 69,343 రూపాయలకు...

30 జిల్లాల్లో ఏడు మనవే.. నవరత్నాలు ఎందుకు, మారెడ్డి అంటూ రఘురామ చిందులు

చీమ కుట్టినట్లయినా లేదు.. కరోనా విషయంలో ఆంధ్రప్రదేశ్ ప్రభుత్వానికి చీమ కుట్టినట్టయినా లేదని చెప్పారు. వైరస్ విషయంలో ప్రభుత్వం తీరు దున్నపోతు మీద వాన పడ్డట్టు...

Stay Connected

98,675FansLike
224,586FollowersFollow
56,656SubscribersSubscribe