Saturday, February 27, 2021

VL- SRSAM Missile: इस स्वदेशी मिसाइल से बढ़ेगी भारतीय सेना की ताकत, DRDO ने किया ‘Surface To Air Missile’ का सफल परीक्षण


नई दिल्ली: रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने सफलता पूर्वक स्वदेश मिसाइल का परिक्षण किया है. सोमवार को ओडिशा के चांदीपुर स्थित इंटीग्रेटेड टेस्ट रेंज में शॉर्ट रेंज की जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया. इस मिसाइल को वर्टिकल लॉन्च शॉर्ट रेंज सरफेस-टू-एयर मिसाइल (VL-SRSAM) कहते हैं. आपको बता दें कि मिसाइल ने अपने निशाने को तय समय में नेस्तानाबूत कर दिया.

आसमानी हमलों का मुंह तोड़ जबाब 

गौरतलब है कि शॉर्ट रेंज सरफेस-टू-एयर मिसाइल (VL-SRSAM) पूरी तरह से स्वदेशी मिसाइल है. इसे भारतीय नौसेना के लिए बनाया गया है ताकि भारतीय नौसेना आसमानी हमलों का मुंहतोड़ जवाब दे सके. इस मिसाइल का परीक्षण कम से कम और अधिकतम रेंज के लिए किया गया था.

ये भी पढ़ें- NASA Perseverance Rover Landing Video: मंगल से NASA के रोवर ने भेजा पहला वीडियो, देखें लाल ग्रह का अद्भुत नजारा

2022 में भारतीय नौसेना में होगा शामिल

शॉर्ट रेंज सरफेस-टू-एयर मिसाइल (VL-SRSAM) को 2022 में भारतीय नौसेना में शामिल किया जाएगा. इसके ऑपरेशनल रेंज 40 से 50 किलोमीटर है. इसे अस्त्र मिसाइल के प्लेटफॉर्म पर बनाया गया है. यह मिसाइल 4.5 मैक यानी 5556.6 किलोमीटर प्रतिघंटा की गति से दुश्मन पर हमला करेगी. इस मिसाइल में वेपन कंट्रोल सिस्टम (WCS) भी लगा है जो इसके सह- हथियार को नियंत्रित करता है. ये एक साथ कई निशाने पर वार कर सकता है.

ये भी पढ़ें- NASA ने जारी की मंगल पर उतरते रोवर की अद्भुत तस्वीर, ये PHOTOS देख वैज्ञानिक भी हुए हैरान

रक्षामंत्री ने दी बधाई 

परीक्षण के समय चांदीपुर के प्रशासन ने लॉन्चपैड के आसपास मौजूद पांच बस्तियों के 6322 लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया गया था. ताकि किसी तरह का हादसा हो तो ये स्थानीय लोग सुरक्षित रहें. रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने डीआरडीओ को इस बड़ी सफलता के लिए बधाई दी है.

360 डिग्री पर दुश्मन का करेगा खात्मा 

भारतीय नौसैनिक युद्धपोतों में लगाई जाने वाले इस स्वदेसी मिसाइल वर्टिकल लॉन्च सिस्टम में एकसाथ 8 मिसाइलें तैनात की जा सकेंगी. इसका वेपन कंट्रोल सिस्टम (WCS) 360 डिग्री पर दुश्मन के हमलों को इंटरसेप्ट कर सकता है. साथ ही उन्हें नष्ट कर सकता है. यानी ये मिसाइल जहां तैनात होगी उस पर हमला करना असंभव हो जाएगा. 

विज्ञान से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

LIVE TV





Source link

MORE Articles

గుడ్ న్యూస్: పెట్రో, డీజిల్ ధరలు తగ్గింపు.. అంతటా కాదు.. అక్కడ మాత్రమే

పెట్రో మంట హీటెక్కిస్తోంది. లీటర్ పెట్రోల్ రూ.100కు చేరువవడంతో సామాన్యుడు భగ్గుమంటున్నాడు. పెట్రో, డీజిల్ ధరలను కేంద్ర, రాష్ట్ర ప్రభుత్వాలు సమన్వయంతో పరిష్కరించుకోవాలని ఆర్బీఐ గవర్నర్ కూడా కామెంట్ చేశారు. ప్రజలు కూడా...

The hidden business costs of working remotely

The benefits of working remotely are numerous, but there are significant hidden costs that need...

Night Dive’s System Shock remake is arriving this summer, download the free demo now

Highly anticipated: It's finally happening. After a whopping five years of...

జహీరాబాద్‌ మాజీ ఎమ్మెల్యే చెంగల్‌ భాగన్న కన్నుమూత…

జహీరాబాద్‌ మాజీ ఎమ్మెల్యే చెంగల్‌ భాగన్న(86) కన్నుమూశారు. అనారోగ్యంతో 20 రోజులుగా నిమ్స్‌ ఆస్పత్రిలో చికిత్స పొందుతూ శుక్రవారం(ఫిబ్రవరి 26) సాయంత్రం తుది శ్వాస విడిచారు. గత రెండేళ్లుగా ఆయన అనారోగ్య సమస్యలతో...

MacBook Pro 16-inch (2021) release date, price, news and leaks

The new MacBook Pro 16-inch (2021) has been keenly awaited. The MacBook Pro 16-inch 2019 had made a splash with its bigger display...

అసోం : పరుగుల చిరుత హిమదాస్‌ డీఎస్పీగా నియామకం…

National oi-Srinivas Mittapalli | Published: Saturday, February 27, 2021, 0:37 ...

AVG AntiVirus for Mac

It’s taken a while to...

Stay Connected

98,675FansLike
224,586FollowersFollow
56,656SubscribersSubscribe